यौन सक्रियता को घरेलू साधनों से कैसे बढ़ाया जाए

इस लेख में हम आपको घरेलू साधनों से यौन सामर्थ्य बढ़ाने और यौन इच्छा को बहाल करने के बारे में बताएँगे। लंबे समय तक यौवन बरकरार रखने और शरीर को सुडौल बनाए रखने के लिए, यौन संबंध पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। पर तनाव, असंतुलित आहार, हार्मोन संबंधी विकार और साथ ही उम्र के कारण यौन संबंधों में निम्नलिखित समस्याएँ आ सकती हैं:

  • लिंग की स्तंभन शक्ति में गिरावट
  • समयपूर्व स्खलन
  • कामेच्छा में कमी।

बिस्तर में होने वाली समस्याओं से जोड़ों के संबंधों पर बुरा असर होता है और इंसान के निजी व व्यवसायिक दोनों जीवन में व्यवधान आता है। उन्हें सुलझाना ज़रूरी है। इस लेख से आप जानेंगे कि यह कैसे संभव है।

यौन संबंधों की मुख्य समस्या का हल

यौन संबंधों की मुख्य समस्या का हल

पुरुषों और स्त्रियों दोनों को ही सेक्स बराबर रूप से चाहिए, पर इस प्रक्रिया में दोनों की भूमिका बराबर नहीं होती। प्रकृति की व्यवस्था ऐसी है कि महिलाओं की तुलना में पुरुष बहुत आसानी से कामोन्माद प्राप्त कर लेते हैं।

समस्या: पुरुष को कामोन्माद हो जाता है, पर स्त्री को नहीं।

सामान्यतः पुरुष का कामोन्माद स्खलन से जुड़ा होता है और यह किसी गहन यौन उत्तेजना के बिना लगभग यांत्रिक तौर पर भी संभव है। महिला के लिए उसका भावनात्मक झुकाव बहुत महत्वपूर्ण होता है और यह कि सेक्स के लिए वह कितनी तैयार है। साथ ही स्त्री में कामोन्माद उसके यौन साथी की कुशलता, इरेक्शन (लिंग के खड़े होने) की गुणवत्ता और लिंग के आकार पर निर्भर करता है।

इसका मतलब है यौन संबंधों की गुणवत्ता के लिए पुरुष काफी हद तक ज़िम्मेदार होते हैं।

बेशक आजकल बहुत लेख इस विषय पर मिल जाएँगे कि लिंग के आकार से कोई फर्क नहीं पड़ता है, और लिंग के किसी भी आकार से स्त्री को आनंद मिल सकता है। हाँ, संभव है। पर पुरुष को सही परिणाम पाने के लिए दोगुना प्रयास करना होगा।

लिंग का आकार उसकी स्तंभन शक्ति पर भी निर्भर करता है। पुरुष के लिंग में उचित रक्त प्रवाह न होने से उसकी स्तंभन शक्ति कमज़ोर होगी और बिलकुल खत्म भी हो सकती है। अगर आपको लिंग की स्तंभन शक्ति से जुड़ी कोई समस्या है, तो डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है, और यह जाँच करवाना कि आपको कोई इंफेक्शन तो नहीं है। अगर आपको इंफेक्शन नहीं है और स्तंभन शक्ति फिर भी कमज़ोर है, इसका मतलब है आप या तो मानसिक परेशानी से ग्रस्त हैं, या फिर आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन की कमी है।

समाधान

  • जननांगों के आकार की विषमता को ठीक कीजिए। कई वर्षों से लिंग का आकार बढ़ाना एक लोकप्रिय प्रक्रिया है। लेकिन अगर पहले अक्सर शल्य चिकित्सा के बारे में बात होती थी, तो अब घर पर ही बिना दर्द के लिंग का आकार बढ़ाने की सुविधा है। ऐसा करने के लिए कई तरीके हैं: विस्तारक (एक्सटेंडर), वैक्यूम पंप और लिंग का आकार बढ़ाने वाले विशेष स्नेहक (जैसे XTRA-MAN)।
  • स्तंभन शक्ति में सुधार। इसके लिए विशेष दवाएँ और प्राकृतिक पूरक आहार उपलब्ध हैं।

लिंग के आकार के अलावा यौन सामर्थ्य भी बहुत महत्वपूर्ण है। यह क्या होता है – यह जानने के लिए आगे पढ़िए।

यौन सामर्थ्य बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए

यौन संबंधों में सामर्थ्य – इसका मतलब है तब तक यौन संभोग जारी रखने की क्षमता, जब तक कि आपका साथी संतुष्ट न हो जाए। यदि आपका स्खलन जल्दी हो जाता है – नीचे दी गई सलाह का उपयोग कीजिए।

सेक्स में अधिक सामर्थ्य पाने के लिए आपको चाहिए:

  • जीवन शैली में बदलाव। पुरुषों की आदतें सेक्स की ज़रूरत पर सीधा प्रभाव डालती हैं: भोजन, धूम्रपान, नशीली दवाओं का उपयोग, शराब, काम की विशेषताएँ, तनाव का स्तर, शारीरिक श्रम, और उसका अभाव। यौन संबंध बनाने के लिए पुरुष को काफी ताकत और ऊर्जा की जरूरत होती है। यदि कोई व्यक्ति अक्सर अधिक चरबी वाला भोजन खाता है, शराब पीता है और तनावग्रस्त रहता है, तो उसमें कामेच्छा का अभाव होने लगता है और उसे अंतरंग संबंधों में बहुत रुचि नहीं रहती। इसी से यौन सामर्थ्य में कमी आने लगती है: स्तंभन दोष और समयपूर्व स्खलन शुरू हो जाता है। अगर बेहतर यौन संबंध चाहते हैं, तो बुरी आदतों से छुटकारा पाइए।
  • नियमित रूप से व्यायाम कीजिए। एरोबिक्स, तैराकी, जॉगिंग और ताकत प्रशिक्षण आपके लिए उचित हो सकते हैं। मुख्य बात यह है कि इन व्यायाम से रक्त परिसंचरण बढ़े और मांसपेशियों के विकास पर सकारात्मक प्रभाव हो। अच्छा रक्त परिसंचरण अच्छी स्तंभन शक्ति की गारंटी है, और मांसपेशियों के द्रव्यमान में वृद्धि से पुरुष यौन हार्मोन का उत्पादन बेहतर होता है। शारीरिक व्यायाम से न केवल आपका शरीर सुडौल होगा, बल्कि यौन सामर्थ्य भी बढ़ेगी। यदि नियमित व्यायाम आपके लिए मुश्किल है और आप बहुत थक जाते हैं, तो टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाने वाले पूरक आहार आजमाइए, जैसे Hammer of Thor।
  • जल्दी उठना सीखिए। हर सुबह सूर्योदय के साथ उठना अच्छा होता है। बेशक, इसके लिए आपको समय पर सोना ज़रूरी होगा और अपनी दैनिक दिनचर्या को सामान्य बनाना होगा। वैसे, नियमित सेक्स की मदद से भी नींद को सामान्य बनाया जा सकता है।
  • सेक्स की प्रक्रिया में अधिक समय तक बने रहने के अभ्यास को बंद नहीं कीजिए। इसके लिए आपको विशेष हस्तमैथुन का अभ्यास करना ज़रूरी है। इस प्रक्रिया में, आप उत्तेजना की चरम अवस्था में पहुँचकर, फिर रुक जाइए। और इस तरह कई बार कीजिए। आप इतना अभ्यास कर लीजिए कि 15-20 मिनट तक खुद को रोक पाएँ – महिला को कामोन्माद तक पहुँचने के लिए आमतौर पर इतना ही समय चाहिए।
  • सेक्स के दौरान, दूसरे विचारों से अपना ध्यान बँटाइए। अंतरंग प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित मत कीजिए। इस तरह, उत्तेजना को कम किया जा सकता है और यौन संभोग लंबे समय तक किया जा सकता है।
  • लिंग की संवेदनशीलता को कम कीजिए। इसके लिए, मोटी सतह वाले कंडोम और विशेष स्नेहक मिलते हैं।

अगर आपको लगता है कि आप स्खलन होने से खुद को नहीं रोक पाएँगे, तो लिंग को योनी से निकाल लीजिए और थोड़ी देर के लिए रुक जाइए। इसके बाद फिर से लिंग को योनी में प्रवेश कर संभोग की प्रकिया जारी रखिए। इस विधि से संभोग का समय बढ़ जाता है।

कामेच्छा को बढ़ाइए

पुरुष यौन आकर्षण उसकी भावनात्मक स्थिति और पुरुष सेक्स हार्मोन, एंड्रोजन के स्तर पर निर्भर करता है। इसलिए, सेक्स में रुचि महसूस करने के लिए आपको तनाव कम करने और हार्मोन का स्तर सामान्य रखना ज़रूरी है। सबसे महत्वपूर्ण है टेस्टोस्टेरोन का स्तर। इस हार्मोन के पर्याप्त उत्पादन के लिए, आपको जस्ते से समृद्ध खाद्य पदार्थ खाना, खेलना, विटामिन डी और प्राकृतिक पूरक आहार लेना जरूरी है।

DR. RAJESH CHOWBEY

Admin, Urologist.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Post comment