कड़ेपन की समस्या

रोग की पहचान

ज्यादातर पुरुषों के मामले में शारीरिक परीक्षण और डॉक्टर के प्रश्नों के उत्तर देने से (मेडिकल हिस्ट्री) ही कड़ेपन से सम्बंधित समस्याओं की पहचान हो जाती है और पहचान के बाद डॉक्टर आपको दवाओं की सिफारिश कर सकता है. यदि आप किसी पुरानी स्वास्थ्य सम्बंधित बीमारी से ग्रसित हैं या आपके डॉक्टर को संदेह है कि कोई अंतर्निहित बीमारी इसके पीछे का कारण हो सकती है, तो आपको आगे के परीक्षण या विशेषज्ञ से परामर्श की आवश्यकता पड़ सकती है.

अंतर्निहित स्थितियों के टेस्ट में शामिल हो सकते हैं:

  • शारीरिक परीक्षा. इसमें आपके लिंग और अंडकोष की सावधानीपूर्वक जांच शामिल हो सकती है जिसमे आपके लिंग की उत्तेजना के लिए आपकी तंत्रिकाओं की जांच की जा सकती है.
  • रक्त परीक्षण. हृदय रोग, मधुमेह, टेस्टोस्टेरोन के स्तर की कमी और अन्य स्वास्थ्य सम्बंधित बीमारियों की पहचान के लिए आपके रक्त के नमूने को प्रयोगशाला में भेजा जा सकता है.
  • मूत्र परीक्षण. रक्त परीक्षण की तरह, मूत्र परीक्षण का उपयोग मधुमेह के लक्षणों और अन्य अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्याओं के लिए किया जाता है.
  • अल्ट्रासाउंड. आमतौर पर इस परीक्षण को एक विशेषज्ञ द्वारा किया जाता है. इसमें लिंग में आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिकाओं पर डिवाइस (ट्रांसड्यूसर) का उपयोग किया जाता है. यह आपके रक्त परिसंचरण का वीडियो बनाता है जिससे आपका डॉक्टर देख पाता है कि क्या आपके रक्त प्रवाह में कोई समस्या है. इस रक्त परीक्षण को करने के समय कभी-कभी लिंग को उत्तेजित करने और खड़ा करने के लिए लिंग में दवाओं के इंजेक्शन के लगाये जाते हैं.
  • मनोवैज्ञानिक परीक्षा. आपका डॉक्टर अवसाद और कड़ेपन की समस्या के अन्य संभावित मनोवैज्ञानिक कारणों के लिए प्रश्न पूछ सकता है.

इलाज

आपके डॉक्टर द्वारा सबसे पहले तो यह सुनिश्चित किया जायेगा कि आपको आपकी समस्या के लिए सही उपचार मिल रहा है जो आपके कड़ेपन की समस्या पर असर डाल रही है या कड़ेपन की समस्या को और भी अधिक गंभीर बना रही है.

आपके कड़ेपन की समस्या और किसी भी अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या के कारण और उनकी गंभीरता के आधार पर, आपके पास उपचार के विभिन्न विकल्प हो सकते हैं. आपका डॉक्टर प्रत्येक उपचार के जोखिम और लाभों को समझा सकता है और आपकी वरीयताओं के अनुसार सबसे सही विकल्प का उपयोग करेगा. आपके साथी की वरीयताएं भी आपके उपचार के विकल्पों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं.

ओरल मेडिकेशन

ओरल दवाएं कई पुरुषों की कड़ेपन की समस्या के लिए असरदार उपचार है. इसमें शामिल है:

  • सिल्डेनाफिल (वियाग्रा)
  • तडालाफिल (एडिसिर्का, सियालिस)
  • वर्डेनाफिल (लेवित्रा, स्टैक्सिन)
  • अवानाफिल (स्टेंड्रा)

चारों दवाएं नाइट्रिक ऑक्साइड के प्रभाव को बढ़ाती हैं – यह एक प्राकृतिक रसायन होता है जो आपके शरीर में बनता है और जो लिंग की मांसपेशियों को आराम देता है. यह रक्त प्रवाह को बढ़ाता है और आपके लिंग को उत्तेजना मिलने के समय खड़ा होने में मदद करता है.

इन में से किसी एक गोली को लेने से कड़ापन नहीं आएगा. आपके लिंग की नसों से नाइट्रिक ऑक्साइड को निकलने के लिए पहले यौन उत्तेजना की आवश्यकता होगी. ये दवाएं सिग्नल्स को बढ़ाती हैं, जिससे पुरुष सामान्य रूप से काम कर सकते हैं. ओरल दवाएं कड़ेपन की समस्या पर काम करती हैं वे कामोत्तेजक नहीं होती हैं, वे उत्तेजना नहीं पैदा करेंगी और इन दवाओं की ज़रुरत उन पुरुषों को नहीं है जिनका लिंग सामान्य रूप से खड़ा हो जाता है.

इन दवाओं की खुराक भिन्न होती हैं, और यह इस बात पर निर्भर करती है कि दवा का असर कब तक रखना है और इसके दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं. इनके संभावित दुष्प्रभावों में फ्लशिंग, नाक जाम होना, सिरदर्द, नज़र का धोखा खाना, पीठ दर्द और पेट में परेशानी होना शामिल है.

आपका डॉक्टर आपकी स्थिति के आधार पर विचार करेगा कि कौन सी दवा आपके लिए सर्वोत्तम रहेगी. ये दवाएं आपके कड़ेपन की समस्या का इलाज तुरंत नहीं कर सकती हैं. आपके लिए सही दवा और सही खुराक खोजने के लिए आपको अपने डॉक्टर के साथ विचार विमर्श करने की आवश्यकता होगी.

कड़ेपन की समस्या से सम्बंधित कोई भी दवा लेने से पहले, फिर चाहे वे काउंटर सप्लीमेंट्स, हर्बल सलूशन ही क्यों न हो, अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें. कड़ेपन की अक्षमता वाली दवाएं सभी पुरुषों पर काम नहीं करती हैं और कुछ स्थितियों में कम प्रभावी भी हो सकती हैं, जैसे कि प्रोस्टेट सर्जरी के बाद या फिर यदि आपको मधुमेह हो तब. कुछ दवाएं खतरनाक भी हो सकती हैं यदि आप:

  • नाइट्रेट दवाएं ले रहे हैं – आमतौर पर छाती के दर्द (एनजाइना) के लिए सिफारिश की जाती है – जैसे कि नाइट्रोग्लिसरीन (मिनिट्रान, नाइट्रो-डूर, नाइट्रोस्टैट, अन्य), आइसोसोरबाइड मोनोनाइट्रेट (मोनोकेट) और आइसोसोरबाइड डिनाइट्रेट (दिलेट्रेट-एसआर, आईसोर्डिल)
  • दिल की बीमारी या दिल काम करना बंद कर सकता है
  • बहुत कम रक्तचाप (हाइपोटेंशन) होता है

अन्य दवाएं

कड़ेपन की समस्या की अन्य दवाओं में शामिल हैं:

  • एल्प्रोस्टाडील आत्म इंजेक्शन. इस विधि से आप अपने लिंग के आधार या किनारे में एल्प्रोस्टाडील (केवरजेक्ट इम्पल्स, ईडेक्स) को इंजेक्ट करने के लिए एक अच्छी सुई का उपयोग करते हैं. कुछ मामलों में, आमतौर पर अन्य बीमारियों में उपयोग में लायी जाने वाली दवाओं को या फिर किसी अन्य दवा के संयोजन को लिंग में इंजेक्शन की मदद से डाला जाता है. उदाहरण के तौर पर इसमें पेपावरिन, एल्प्रोस्टाडील और पेंटोलामाइन शामिल हैं. अक्सर इन दवाओं के संयोजन को बिमिक्स के नाम से जाना जाता है (यदि दो दवाएं शामिल हैं) या ट्रिमिक्स (यदि तीन शामिल हैं). प्रत्येक इंजेक्शन में इतनी मात्रा में दवा डाली जाती है जिससे लगभग एक घंटे से थोडा कम समय तक ही कडापन बरकरार रहे. चूंकि उपयोग की जाने वाली सुई बहुत महीन होती है, इसलिए इंजेक्शन से दर्द आमतौर पर बहुत ही मामूली होता है. साइड इफेक्ट्स में इंजेक्शन के चलते हल्का खून निकल सकता है, लंबे समय तक कडापन रह सकता है और, शायद ही कभी इंजेक्शन लगाये जाने वाली जगह पर रेशेदार ऊतक का गठन हो सकता है.
  • एल्प्रोस्टाडील यूरेथ्रल सपोसिटरी. एल्प्रोस्टाडील इंट्रायूरेथ्रल (म्यूज़) थेरेपी में लिंग के मूत्रमार्ग में आपके लिंग के अंदर एक छोटी एल्प्रोस्टाडील सपोजिटरी को रखा जाता है. आप अपने मूत्रमार्ग में सपोजिटरीको डालने के लिए एक विशेष आवेदक का उपयोग करते हैं. लिंग का कडापन आमतौर पर १० मिनट के भीतर शुरू होता है, और जब प्रभावी होता है, तो ३० से ६० मिनट तक बना रहता है. साइड इफेक्ट्स में दर्द, मूत्रमार्ग में मामूली रक्तस्राव और आपके लिंग के अंदर रेशेदार ऊतकों का गठन शामिल हो सकता है.
  • टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट. कुछ पुरुषों में कड़ेपन की समस्या टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के निम्न स्तर से जटिल हो सकती है. इस मामले में, टेस्टोस्टेरोन प्रतिस्थापन चिकित्सा को पहले चरण के रूप में अनुशंसित किया जा सकता है या अन्य उपचारों के साथ इन दवाओं को संयोजन में दिया जा सकता है.

पिनिस पंप, सर्जरी और प्रत्यारोपण

यदि आपके मामले में दवाएं प्रभावी या उपयुक्त नहीं हैं, तो आपका डॉक्टर आपको अलग उपचार की सिफारिश कर सकता है. अन्य उपचारों में शामिल हैं:

  • पिनिस पंप. एक पिनिस पंप (वैक्यूम इरेक्शन उपकरण) एक हाथ से संचालित या बैटरी संचालित पंप होता है जिसमे एक खोखली ट्यूब लगी होती है. ट्यूब में लिंग को डाला जाता है, और फिर ट्यूब के अंदर की हवा को चूसने के लिए पंप का प्रयोग किया जाता है. इससे एक वैक्यूम बनता है जो रक्त को आपके लिंग में खींचता है. एक बार जब आपका लिंग कड़ा हो जाता है, तो आप लिंग में रक्त बनाए रखने और इसे कड़ा रखने के लिए अपने लिंग के आधार पर एक ख़ास अंगूठी फसा देते हैं. फिर आप वैक्यूम डिवाइस को हटा सकते हैं. यह कड़ापन आमतौर पर एक जोड़े के लिए यौन संबंध बनाने के लिए पर्याप्त लंबा होता है. संभोग के बाद आप अंगूठी हटा देते हैं. इससे लिंग पर कभी- कभी निशान पड़ जाते हैं, और बैंड के चलते स्खलन रुक जाता है. इस दौरान आपका लिंग स्पर्श करने पर ठंडा महसूस हो सकता है. यदि आपके लिए पिनिस पंप एक अच्छा उपचार का विकल्प है, तो आपके डॉक्टर आपको एक विशिष्ट मॉडल की सिफारिश कर सकते हैं. इस तरह, आप सुनिश्चित कर सकते हैं कि यह आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप है और इसे एक प्रतिष्ठित निर्माता द्वारा बनाया गया है.
  • पेनाइल प्रत्यारोपण. इस उपचार में लिंग के दोनों किनारों पर उपकरणों को रखा जाता है. इन प्रत्यारोपणों में या तो फूलने वाली या लचीली छड़ शामिल होती हैं. फुलाए जाने वाली डिवाइस आपको लिंग के कड़ेपन को नियंत्रित करने की अनुमति देती है कि आप कब और कितनी देर तक कड़ापन चाहते हैं. लचीली छड़ें आपके लिंग को मज़बूत लेकिन लचीला बरकरार रखती हैं. पेनाइल इम्प्लांट्स की अनुशंसा आमतौर पर तब तक नहीं की जाती है जब तक अन्य तरीके कारगर हो सकते हैं. इम्प्लांट्स को लेकर उन पुरुषों के बीच संतुष्टि का स्तर बहुत ही उच्च होता है जिन्होंने अन्य रूढ़िवादी उपचारों की कोशिश की और विफल रहे हैं. किसी भी अन्य सर्जरी की भाँति इसमें भी संक्रमण जैसी जटिलताओं का खतरा होता है.

व्यायाम

हाल के अध्ययनों से पता चला है कि व्यायाम, विशेष रूप से मध्यम स्तर से जोरदार स्तर पर ले जाने वाली एरोबिक गतिविधि, कड़ेपन की समस्या में सुधार कर सकती है. हालांकि, कुछ पुरुषों में इसका लाभ कम हो सकता है, जिन्हें हृदय रोग या अन्य कोई ख़ास बीमारी है.

यहां तक कि कम कठोर, नियमित व्यायाम भी कड़ेपन की समस्या के जोखिम को कम कर सकता है. गतिविधियों के स्तर को बढ़ाने से जोखिम को और भी कम किया जा सकता है.

अपने डॉक्टर से एक्सरसाइज प्लान पर चर्चा करें.

मनोवैज्ञानिक परामर्श

यदि आपकी कड़ेपन की समस्या तनाव, चिंता या अवसाद के कारण है – या यह समस्या तनाव और रिश्ते में अनबन को पैदा कर रही है – तो आपका डॉक्टर आपको, या/और आपके साथी को मनोवैज्ञानिक या परामर्शदाता से मिलने की सलाह दे सकता है.

वैकल्पिक दवाई

किसी भी सप्लीमेंट का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से यह सुनिश्चित करें कि यह सप्लीमेंट आपके लिए सुरक्षित है – खासकर यदि आप पास किसी पुरानी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या से पीड़ित हैं. कुछ वैकल्पिक उत्पाद जो कड़ेपन की समस्या पर काम करने का दावा करते हैं, वे खतरनाक हो सकते हैं.

खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने कई प्रकार के “हर्बल वयाग्रा” के बारे में चेतावनियां जारी की हैं क्योंकि उनमें संभावित रूप से हानिकारक दवाएं मिली हुई होती हैं जो लेबल पर सूचीबद्ध नहीं होती हैं. उनकी खुराक भी अज्ञात हो सकती है, या निर्माण के दौरान वे दूषित हो सकती हैं.

इनमें से कुछ दवाएं आपके चिकित्सक के द्वारा सुझाई गयी दवाओं के खिलाफ़ काम कर सकती हैं और खतरनाक रूप से कम रक्तचाप का कारण बन सकती हैं. ये उत्पाद ख़ासतौर पर नाइट्रेट लेने वाले पुरुषों के लिए खतरनाक होते हैं.

जीवन शैली और घरेलू उपचार

कई पुरुषों में गलत जीवनशैली के चलते कड़ेपन की समस्या बहुत ही गंभीर मुद्दा बन जाती है. यहां कुछ चरण दिए गए हैं जो आपकी सहायता कर सकते हैं:

  • यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो छोड़ दें. अगर आपको छोड़ने में परेशानी है, तो किसी पेशेवर से सहायता प्राप्त करें. निकोटीन रिप्लेसमेंट को आजमायें, जैसे ओवर-द-काउंटर गम या लोज़ेंजेस, या अपने डॉक्टर से किसी चिकित्सकीय दवा के बारे में पूछें जो आपकी धूम्रपान छोड़ने में मदद कर सके.
  • अतिरिक्त वजन कम करें. अधिक वजन होने से कड़ेपन की समस्या हो सकती है – या स्थिति बहुत ही खराब हो सकती है – लिंग खड़ा होने में असफल हो सकता है.
  • अपनी दैनिक दिनचर्या में शारीरिक गतिविधि शामिल करें. व्यायाम अंतर्निहित समस्याओं में मदद कर सकता है जो कई तरीकों से कड़ेपन की असफलता को बढ़ाते हैं, इससे तनाव कम हो सकता है, वजन कम हो सकता है और रक्त प्रवाह में वृद्धि हो सकती है.
  • अल्कोहल या ड्रग्स जैसी समस्याओं के लिए इलाज करवाएं. बहुत ज्यादा शराब पीने से या अवैध ड्रग्स का सेवन करने से आपकी कड़ेपन की समस्या बहुत ही गंभीर हो सकती है या इसका आपके स्वास्थ्य पर दीर्घकालिक असर पड़ सकता है.
  • रिश्तों से सम्बन्धित मुद्दो को अनदेखा न करें. यदि आपको अपने साथी से बात करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है या अपनी समस्याओं के चलते परेशानी हो रही है तो किसी सम्बंधित पेशेवर से परामर्श लें.

मुकाबला और सपोर्ट

चाहे कारण शारीरिक हो, या फिर मनोवैज्ञानिक या फिर दोनों ही का संयोजन हो, ऐसे में कड़ेपन की समस्या आपके और आपके साथी दोनों ही के लिए मानसिक और भावनात्मक तनाव का स्रोत बन सकती है. यहां कुछ चरण दिए गए हैं जिनका उपयोग आप कर सकते हैं:

  • इस बात का अंदाज़ न लगायें कि आपको दीर्घकालिक समस्या है. कभी-कभी कड़ेपन में आने वाली समस्या को अपने स्वास्थ्य या मर्दानगी पर धब्बे के रूप में न देखें, और अगली बार सम्भोग करने के दौरान यह न सोचें कि पुरानी घटना फिर से घटित हो सकती है. इससे चिंता पैदा हो सकती है, जिससे कड़ेपन की समस्या और भी गंभीर हो सकती है.
  • अपने यौन साथी को शामिल करें. आपका साथी आपके कड़ेपन की समस्या को आपकी उनमे रुचि की कमी के रूप में देख सकता है. आप उन्हें इस बात का आश्वासन दें कि ऐसा बिलकुल भी नहीं है इससे उन्हें मदद मिल सकती है. अपनी हालत के बारे में खुलकर ईमानदारी से चर्चा करें. जब कोई व्यक्ति अपने साथी को उपचार में शामिल करता है तो उपचार अधिक सफल होता है.
  • तनाव, चिंता या अन्य मानसिक स्वास्थ्य चिंताओं को नजरअंदाज न करें. इन मुद्दों को हल करने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें या मानसिक स्वास्थ्य प्रदाता से परामर्श लें.

आपकी अपॉइंटमेंट के लिए तैयारी

आप अपने परिवार के डॉक्टर या एक सामान्य चिकित्सक को दिखाकर शुरुआत कर सकते हैं. आपकी विशेष स्वास्थ्य चिंताओं के आधार पर, आप सीधे एक विशेषज्ञ के पास जा सकते हैं – एक डॉक्टर जो पुरुष जननांग सम्बन्धी समस्याओं (मूत्र विज्ञानी) या हार्मोनल सिस्टम (एंडोक्राइनोलॉजिस्ट) में माहिर है.

चूंकि अपॉइंटमेंट्स बहुत ही छोटे हो सकते हैं और अक्सर इनमे बहुत कुछ चर्चा करनी होती है, इसलिए अच्छी तरह से खुद को तैयार कर लेना बहुत ही अच्छा होता है. तैयार होने में आपकी मदद करने के लिए यहां कुछ जानकारी दी गई है और इससे आपको यह भी पता चल जायेगा कि आप अपने डॉक्टर से क्या उम्मीद कर सकते हैं.

आप क्या कर सकते है

अपनी अपॉइंटमेंट के लिए तैयार होने के लिए इन चरणों का प्रयोग करें:

  • पहले से पूछें कि आपको अपॉइंटमेंट में आने से पहले क्या करना है. जब आप अपॉइंटमेंट लेते हैं, तो यह जरूर पूछें कि आपको पहले से कुछ करने की ज़रूरत है या नहीं. उदाहरण के लिए, आपका डॉक्टर आपसे रक्त परीक्षण करने से पहले कुछ भी खाने के लिए मना कर सकता है.
  • आपके द्वारा महसूस किए गए किसी भी लक्षण को लिखें, सभी लक्षण, फिर चाहें वे आपको कड़ेपन की समस्या से सम्बंधित न लगें तब भी.
  • प्रमुख व्यक्तिगत जानकारी लिखें किसी भी प्रमुख तनाव या हाल के जीवन परिवर्तन की जानकारी को भी लिखें .
  • सभी दवाओं की एक सूची बनाएं, विटामिन्स, हर्बल उपचार और सप्लीमेंट आहार.
  • यदि संभव हो तो अपने साथी को साथ ले जाएं. आपका साथी आपको कुछ याद रखने में मदद कर सकता है जिसे आप अपॉइंटमेंट के दौरान भूल सकते हैं.
  • अपने डॉक्टर से पूछने के लिए प्रश्न लिखें .
  • कड़ेपन की समस्या के लिए आप अपने डॉक्टर से पूछे जाने वाले प्रश्नों में कुछ बुनियादी प्रश्नों को शामिल कर सकते हैं:
  • मेरी कड़ेपन की समस्या का सबसे अधिक संभावित कारण क्या है?
  • अन्य संभावित कारण क्या हैं?
  • मुझे किस तरह के परीक्षण की ज़रूरत है?
  • क्या मेरी कड़ेपन की समस्या अस्थायी है या फिर लम्बे समय तक टिकने वाली है?
  • सबसे अच्छा उपचार क्या है?
  • आपके द्वारा सुझाए जा रहे प्राथमिक उपचार के विकल्प क्या-क्या हैं?
  • मैं अपनी कड़ेपन की समस्या के साथ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का प्रबंधन कैसे कर सकता हूँ?
  • क्या मुझे किसी प्रतिबंध के पालन करने की ज़रूरत है?
  • क्या मुझे किसी विशेषज्ञ को दिखाना चाहिए? इसकी लागत क्या होगी, और क्या मेरे बीमा द्वारा इन अपॉइंटमेंट्स को कवर किया जायेगा?
  • यदि दवा निर्धारित की जाती है, तो क्या जेनेरिक विकल्प उपलब्ध है?
  • क्या कोई ब्रोशर या अन्य मुद्रित सामग्री उपलब्ध है जिसे मैं अपने साथ घर ले जा सकता हूँ? आप किन वेबसाइट की सिफारिश करते हैं?

अपने तैयार प्रश्नों के अलावा, अपनी अपॉइंटमेंट के दौरान अतिरिक्त प्रश्न पूछने में संकोच न करें.

अपने डॉक्टर से आपको क्या उम्मीद करनी चाहिए

आपका डॉक्टर आपसे कई प्रश्न पूछ सकता है. नीचे दिए गए प्रश्नों और उनसे मिलते हुए प्रश्नों के लिए तैयार रहें:

● आप किन अन्य स्वास्थ्य चिंताओं या पुरानी बीमारियों से ग्रसित हैं?

● क्या आपको कोई अन्य यौन समस्या है?

● क्या आपकी यौन इच्छा में कोई बदलाव आया है?

● क्या आपको हस्तमैथुन के दौरान, पार्टनर के साथ या सोने के समय कडापन होता है?

● क्या आपके यौन साथी के साथ आपके रिश्ते में कोई समस्या है?

● क्या आपके साथी को कोई यौन समस्या है?

● क्या आप चिंतित, उदास या तनाव में हैं?

● क्या आप कभी किसी मानसिक समस्या से ग्रसित रहे हैं? यदि हां, तो क्या आप वर्तमान में कोई दवा लेते हैं या इसके लिए मनोवैज्ञानिक परामर्श (मनोचिकित्सा) प्राप्त करते हैं?

● आपने पहली बार यौन समस्याओं पर ध्यान देना कब शुरू किया?

● क्या आप कड़ेपन की समस्याओं का कभी-कभी, अक्सर या हर समय सामना करते हैं?

● किसी भी हर्बल उपचार या सप्लीमेंट सहित आप किन दवाओं को लेते हैं?

● क्या आप शराब पीते हैं? यदि हां, तो कितना?

● क्या आप अवैध ड्रग्स का उपयोग करते हैं?

● ऐसा क्या है जिससे आपको अपनी समस्या में सुधार महसूस होता है?

● ऐसा क्या है जिससे आपको अपनी समस्या और भी ख़राब होती नज़र आती है?

DR. RAJESH CHOWBEY

Admin, Urologist.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Post comment